Latest News and Status

Post Top Ad

Post Top Ad

Sunday, 25 February 2018

ABORTION | गर्भपात करवाना गलत माना गया है, कृपया इस लेख को अवश्य पढ़े |

ABORTION | गर्भपात करवाना गलत माना गया है, कृपया इस लेख को अवश्य पढ़े |


और अगर इसे पढ़ कर आपके दिल की धड़कने बढ़ जाये
तो शेयरअवश्य करे |

ABORTION | गर्भपात करवाना गलत माना गया है, कृपया इस लेख को अवश्य पढ़े |
अमेरिका में सन 1984 में एक सम्मेलन हुआ था - 'नेशनल राइट्सटू लाईफकन्वैन्शन'
इस सम्मेलन के एक प्रतिनिधि ने डॉ॰ बर्नार्ड नेथेनसन के द्वारा गर्भपात की बनायी गयी एक अल्ट्रासाउण्ड फिल्म 'साइलेण्ट स्क्रीम' (गूँगी चीख) का जो विवरण दिया था, वह इस प्रकार है


'गर्भ की वह मासूम बच्ची अभी 15 सप्ताह की थी व काफी चुस्त थी।

हम उसे अपनी माँ की कोख मेँ खेलते, करवट बदलते व अंगूठा चूसते हुए देख रहे थे। उसके दिल की धड़कनों को भी हम देख पा रहे थे और वह उस समय 120 की साधारण गति से धड़क रहा था।

सब कुछ बिलकुल सामान्य था; किन्तु जैसे ही पहले औजार (सक्सन पम्प) ने गर्भाशय की दीवार को छुआ, वह मासूम बच्ची डर से एकदम घूमकर सिकुड़गयी और उसके दिल की धड़कन काफी बढ़गयी।

हालांकि अभी तक किसी औजार ने बच्ची को छुआ तक भी नहीं था, लेकिन उसे अनुभव हो गया था कि कोई चीज उसके आरामगाह,उसके सुरक्षित क्षेत्र पर हमला करने का प्रयत्न कररही है।

हम दहशत से भरे यह देख रहे थे कि किस तरह वह औजार उस नन्हीं-मुन्नी मासूम गुड़िया- सी बच्ची के टुकड़े-टुकड़े कर रहा था।
पहले कमर,फिर पैर आदि के टुकड़े ऐसे काटे जा रहे थे जैसे वह जीवित प्राणी न होकर कोई गाजर-मूली हो और वह बच्ची दर्द से छटपटाती हुई, सिकुड़कर घूम-घूमकर

तड़पती हुई इस हत्यारे औजार से बचने का प्रयत्न कर रही थी।


वह इस बुरी तरह डर गयी थी कि एक समय उसके दिल की धड़कन 200 तक पहुँच गयी! मैँने स्वंय अपनी आँखों से उसको अपना सिर पीछे झटकते व मुँह खोलकर चीखने का प्रयत्न करते हुए देखा, जिसे डॉ॰ नेथेनसन ने उचित ही 'गूँगी चीख' या 'मूक पुकार' कहा है।

अंत मेँ हमने वह नृशंस वीभत्स दृश्य भी देखा, जब सँडसी उसकी खोपड़ी को तोड़ने के लिए तलाश रही थी और फिर दबाकर उस कठोर खोपड़ी को तोड़ रही थी क्योँकि सिर का वह भाग बगैर तोड़े सक्शन ट्यूब के माध्यम से बाहर नहीं निकाला जा सकता था।'

हत्या के इस वीभत्स खेल को सम्पन्न करने में करीब पन्द्रह मिनट का समय लगा और इसके दर्दनाक दृश्य का अनुमान इससे अधिक और कैसेलगाया जा सकता है कि जिस डॉक्टर ने यह गर्भपात किया था और जिसने मात्र कौतूहलवश इसकी फिल्म बनवा ली थी,

उसने जब स्वयं इस फिल्म को देखा तो वह अपना क्लीनिक छोड़कर चला गया और फिर वापस नहीं आया !
आपका एक शेयर किसी अजन्मी बच्ची -लडकी की जान बचा सकता है!
"Save Girls "

No comments:

Post a comment

Dussehra Vijaya Dashmi Special SMS Shayri, Quotes and Status

एक औरत अपनी जीभ पर कुमकुम और चावल लगा रही थी। पति-ये क्या कर रही हो? पत्नी-आज दशहरा है, शस्त्र पूजन कर रही हूं.. “Ho Aapki Life...

Random Posts

randomposts
Hi Friends My Name Is Mukesh Rathod.
I am Blogger, Internet Marketer, SEO Expert and Also Youtuber.
I am From Ahmedabad Gujarat.

Contact Form

Name

Email *

Message *

Total Pageviews